ज्योतिष विचार : कोविड - 19 का भारत मे भविष्य

 भारत को कोविड - 19 से कब छुटकारा मिलेगा ?

(एस्ट्रोलॉजी एनालिसिस)

 

Read this article in English 

 

Covid+19+India+end+pandemic+jyotish+healer+astrology+prediction
भारत मे कोविड -19 के बढ़ते हुए रोगी

 

 

कोविड -19 के नए स्टेन इंडिया मे आ चुका है। वर्तमान डाटा खतरे की घंटी है क्योंकि कई प्रदेशों मे नए केस बढ़ रहे हैं।


हम भारतियों के मन मे यह प्रश्न उठता है कि आखिर कब कोविड -19 इंडिया भारत से ख़त्म होगा ? हिन्दू एस्ट्रोलॉजी का कोविड -19 के ख़त्म होने के विषय मे क्या विश्लेषण हैं ?


 इस महत्वपूर्ण विषय के लिए प्रश्न ज्योतिष द्वारा प्रभु इच्छा को जानने का एक प्रयास किया।

 

 

फलादेश :


1. अप्रैल 2022 तक का समय आशा की किरण दिखा रहा है। कोरोना का टीका आ चुका है और भारत मे यह अब लग भी रहा है। लेकिन यह समय सिर्फ आशा ही ले कर आएगा , आशातीत परिणाम अभी हमारी पहुँच से कुछ दूर हैं।


इस समयावधि मे कोविड -19 के नए रोगी बढ़ेंगे। डर की भावना बढ़ेगी। स्थिति ख़राब होती प्रतीत होगी।


पश्चिम एवं दक्षिण-पश्चिम भारत मे कोविड -19  प्रभाव ज्यादा महसूस किया जायेगा।


भारत सरकार कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम को सफल बनाने का हर संभव प्रयास करेगी परन्तु आशानुरूप परिणाम नहीं आएंगे।


2. अप्रैल 2022 से नवम्बर 2024 तक कोरोना की रोकथाम में मिले जुले परिणाम देखने को मिलेंगे। नए रोगी आते रहेंगे।  डर बना रहेगा। कोविड -19 को रोकने के लिए संघर्ष जारी रहेगा।


भारत सरकार एवं राज्य सरकारें पूरी तरह से कोविड - 19 की रोकथाम के लिए कदम उठती रहेंगी। इसमे कोई आश्चर्य नहीं होगा यदि केंद्र  सरकार / राज्य सरकारें कोविड - 19 टीकाकरण कार्यक्रम एवं दूसरे रोकथाम के कदम सफल करने के लिए कुछ कड़े प्रशासनिक फैसले भी ले सकती हैं।


3. नवम्बर 2024 के बाद का समय भारत देश के लिए कोरोना  रोग से राहत का समय हो सकता है। रोग के फैलाव में कमी होने की संभावना दिखती है।


कोविड -19 रोग पूर्ण रूप से कभी भी नहीं जायेगा परन्तु इस की रोगकारक क्षमता मे बहुत कमी आ जाएगी।


********************

 

Click to know more ->

 

 ज्योतिष विद्या में रुचि रखने वाले पाठकों के लिए एस्ट्रोलॉजिकल एनालिसिस निम्नलिखित है।


दिनांक : 25 Feb 2021 - Thursday

समय : 8.31 AM

स्थान : Noida


के पी नंबर : 200 (नंबर जनरेटर एप से लिया गया )


सॉफ्टवेयर : www.astrosage.com


*विश्लेषण के लिए प्रश्न कुंडली के लग्न को भारतीय जनता (भारत देश ) का प्रतिनिधि माना गया है।

 

Covid+19+End+India+Astrology+Horoscope
कोविड -19 की भारत मे स्थिति ; प्रश्न कुंडली

 


प्रश्न कुंडली मे चंद्र मन को दर्शाता है।


चंद्र 6h में विराजित है , राहु के सब मे है जो 6h का नक्षत्र स्वामी है और 12h का सब्लॉर्ड है। चंद्र 1h का नक्षत्र स्वामी एवं 8h का सब्लॉर्ड है।


अतः चंद्र का सम्बन्ध 1-6-8-12 से है जो बीमारी, रोग के फैलाव , अस्पताल एवं पृथकता (आइसोलेशन) दर्शाते हैं।


1h  सबलॉर्ड से जिस व्यक्ति का विचार किया जा रहा है उसकी स्थिति का विश्लेषण करते हैं।


बु

6-7'-11-(1)

चं

6-7-1-3-8

बु

6-7'-11-(1)


बु की  बृ 1-12-2-10-4-5-11 एवं श  - 12-1-2 के साथ युति है।


बु का सम्बन्ध 11 भाव से है तो यह एक शुभ संकेत है।  बृ की युति रोग की स्थिति को ख़राब होता भी दर्शाती है और रोग निदान के भी संकेत दे रहा है।


श. कोविड - 19 की स्थिति को गंभीर बनता है और रोग निदान मे विलम्ब दिखा रहा है।


अतः यह दर्शाता है कि  भारत की जनता कोरोना रोग से लड़ेगी और इसको हराएगी भी परन्तु  यह संघर्ष अभी लम्बा है ।



6h सब्लॉर्ड


3’-11-5-9-(6)

सू

1-8’-4

बृ

1-12-2-10-4-5-11


म और सू  का सम्बन्ध बुखार , और सूजन दर्शाते हैं क्योंकि दोनों ही अग्नि तत्व के ग्रह है।  बृ लिवर और पित्त दर्शाता है। सू रोग प्रतिरोध को दर्शाता है।


सू वायु तत्व की राशि मे है जो वायु से सम्बन्ध दर्शाता है। कोविड - 19 वायु मार्ग एवं वायु माध्यम से फैलता है। यहाँ सु 8 -4 को दर्शाते हैं अतः रोग की स्थिति को जटिल बनाते हैं।


बृ लिवर और पित्त को दर्शाते हैं। कोरोना रोग मे लिवर प्रभावित होता है। 10-4 से रोग की स्थिति मे निदान की स्थिति को कमजोर करते हैं परन्तु 5-11 रोग निदान की स्थिति भी दिखते हैं।


अतः भारत मे कोविड -19 की निदान की स्थिति मे बहुत ही धीमा सुधार होगा परन्तु अभी यह बीमारी हमको चुनौती देती रहेगी।


*महादशा विश्लेषण


12-1-2

6-7-1-3-8

बृ

1-12-2-10-4-5-11


श की बु से युति है।


महादशा कठिन समय का संकेत देती है।  रोकथाम के उपाय धीमे परिणाम देगें।



*अन्तर्दशा विश्लेषण


राहु अन्तर्दशा अप्रैल 2022 तक


रा

4'-6-12''-10'-1'-2'-5'-9'-11


6-7-1-3-8


शु

1-5-9-2-12


रा अन्तर्दशा स्थिति की जटिलता इंगित करती है। रोकथाम मे बाधा परन्तु  5'-9'-11 स्थिति मे सुधार भी दर्शाता है। शु मे भी 5-9 सुधर दिखता है परन्तु 12-8 -6 सुधार को बाधित करते हैं।


बृ अन्तर्दशा अप्रैल 2022 से नवम्बर 2024


बृ

1-12-2-10-4-5-(11)


6-7-1-3-8


शु

1-5-9-2-12


बृ अन्तर्दशा भी रा की ही कहानी दोहरा रही है।


बृ न्यायतंत्र, विधि को दर्शाता है, मकर राशि जो 10वीं है;  राजा/मुखिया को दर्शाती  है , एवं शु के सब मे है जो 9 से सम्बंधित है, नियम-कानून को दर्शाता है   ।  

च सरकार को दर्शाता है।


यह दर्शाता है कि, केंद्र एवं राज्य सरकारें रोकथाम के लिए कड़े कदम उठा सकतीं हैं जिसमे टीकाकरण से सम्बंधित कोई नियम भी हो सकता है।


कविड -19 के टीके की सफलता तभी है जब दोनों ही खुराक लीं  जाएँ। अतः सरकारें इसके लिए कानूनी दायरे मे नया नियम बन सकतीं  हैं ।


*आगामी महादशा बु - नवम्बर 2024 के बाद


बु

6-7'-11-(1)


6-7-1-3-8


बु

6-7'-11-(1)


बु का बृ एवं श से युति सम्बन्ध है। बु बलि है और 11 भाव से संबंधित है।


अतः नवम्बर 2024 के बाद भारत की जनता को कोविड -19 से बहुत हद तक राहत मिल जाएगी। इस वायरस की मारक एवं रोगकारक क्षमता में बहुत कमजोरी आएगी।  परन्तु यह वायरस पूर्णरूप से कभी नहीं जायेगा।


***************


इस लेख को पढ़ने के लिए धन्यवाद। कमेंट मे अपने विचार एवं भावनाएं व्यक्त कीजिये। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे शेयर कीजिये।


ज्योतिष हीलर के न्यूज़ लेटर को सब्सक्राइब कीजिये।


शुभेक्षा,


अनुरोध|



ज्योतिष हीलर से संपर्क करने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये।





 

टिप्पणियां